Station master

रेलवे स्टेशन मास्टर के कार्य और वेतन ,जॉब प्रोफ़ाइल, कैरियर 2020

station-master-work-job-and-salary,-job-profile,-career-2020

Railway station master work,salary,job profile

स्टेशन मास्टर की जिम्मेदारी

किसी भी रेलवे स्टेशन का स्टेशन मास्टर अपने स्टेशन का एक जिम्मेदार और सम्मानित अधिकारी होता है| और स्टेशन मास्टर, अपने स्टेशन पर हो रहे सम्पूर्ण कार्यो की गतिविधियों के लिए जिम्मेदार होता है|आमतौर पर,प्रत्येक स्टेशन में चार स्टेशन मास्टर्स होते हैं जो शिफ्ट में काम करते हैं।और वह जिस स्टेशन पर नियुक्त होता है, उस स्टेशन की संरक्षा सुचारू, सुरक्षित एवं नियमितरूप से संचालन के लिए जिम्मेदार होता है|स्टेशन मास्टर का काम कई लोगों को काफी आसान, नियमित और व्यस्त लगता है, लेकिन यह किसी ट्रेन यात्रा को आरामदायक, सुरक्षित और तेज़ बनाने में  प्रयासरत और निरंतर कठिन परिश्रम करता है।

station-master-work-job-and-salary,-job-profile,-career-2020


1. यह एक स्टेशन मास्टर है जो ट्रेनों के सुरक्षित रूप से चलने को सुनिश्चित करता है और यात्रियों और कर्मचारियों की सुरक्षा की भी जिम्मेदारी लेता है।

2. रेलवे स्टेशन मास्टर भारतीय रेलवे जो भारत की सबसे बड़ी नियोक्ता है और लगभग 12 लाख कर्मचारियों के साथ दुनिया में अपना योगदान देता रहा है। जिसमें भारतीय रेलवे को अक्सर पूरे देश को जोड़ने और मजबूत करने का श्रेय दिया जाता रहा है।

3. स्टेशन मास्टर की जिम्मेदारी होती है कि एमरजेंसी में वह ध्यान से चिकित्सा अधिकारियों के साथ जल्द से जल्द उचित चिकित्सा प्रदान कराये।  इसके अलावा, एक स्टेशन मास्टर (एसएम) को स्टेशन प्रबंधक के साथ भी समन्वय करना पड़ता है और अपने स्टेशन पर रुकने वाली सभी ट्रेन को सावधानीपूर्वक आदेश जारी करने होते हैं

4. कभी-कभी, छोटे स्टेशनों पर, स्टेशन मास्टर को वाणिज्यिक कार्य जैसे टिकट / पार्सल बुकिंग, आरक्षण आदि के साथ करना पड़ता है। एक स्टेशन मास्टर की भी अपने स्टेशन पर प्रबंधक की भूमिका निभानी पड़ती है और किसी भी परिश्रम के मामले में बचाव कार्यों का ध्यान रखना पड़ता है।

स्टेशन मास्टर की भर्ती प्रक्रिया

भारतीय रेलवे में सभी कर्मचारियों की भर्तियाँ आरआरबीRRB (रेलवे भर्ती बोर्ड) और आरआरसीRRC (रेलवे भर्ती सेल) द्वारा विभिन्न परीक्षाओं के माध्यम से आयोजित की जाती रही हैं। और लगभग
हर साल, आरआरबी बड़ी संख्या में विभिन्न प्रकार के पोस्ट को रिक्तियों के साथ भरता आया है और सबसे बड़ी नियोक्ता के तहत काम करने के इच्छुक उम्मीदवारों को सुनहरा अवसर प्रदान करता रहा है।

भारतीय रेलवे बोर्ड के द्वारा समय-समय पर ASM पद के लिए भर्ती निकाली जाती है| यदि आप की भी इच्छा रेलवे स्टेशन मास्टर बनने की है तो ASM (असिस्टेंट स्टेशन मास्टर) पर नियुक्त होकर SM (स्टेशन मास्टर) बन सकते है

SM भारतीय रेलवे में एक ऐसा स्थान है जिसके माध्यम से इच्छुक व्यक्ति अपने उज्ज्वल भविष्य की शुरुआत कर सकते हैं और आगे एक अच्छा खुशहाल जीवन भी जी सकते हैं


रेलवे स्टेशन मास्टर का वेतन

किसी भी सरकारी कर्मचारी की सैलरी पे-स्केल के आधार पर निर्धारित होती है| सभी कर्मचारियों की सैलरी उनके पद एवं उसके अनुरूप ग्रेड के अनुसार निर्धारित की जाती है|

रेलवे स्टेशन मास्टर लिए निर्धारित पे-स्केल रु.5200-34500 होती है, और रु.4200 ग्रेड पे दिया जाता है|  इस प्रकार कुल सैलरी लगभग रु 45000 होती है| जब से 7 वें आयोग के लागू हुआ तो उसके बाद स्टेशन मास्टर के वेतन को निम्नलिखित विवरण यहां दिया गया है।

  1. बेसिक सैलरी: -35,400
  2. महंगाई भत्ते: -4248 (12%)
  3. टीपीए: -1800
  4. डीए टीपीए: -90 एचआरए:
  5. X क्लास सिटी: -8496 (24%)
  6. वाई क्लास सिटी: -5664 (16%)
  7. जेड क्लास सिटी: -2832 (8%)
  8. सकल वेतन:
  9. X क्लास सिटी: -50,255
  10. Y क्लास सिटी: -47,424
  11. Z क्लास सिटी: -44,592
  12. कटौती:
  13. एनपीएस 10% (3): – 3,717
  14. CGHIS: -30
  15. प्रोफेशनल टैक्स: -250
  16. कुल कटौती: -3997
  17. हाथ में:
  18. X सिटी: -46,260
  19. Yक्लास सिटी: -43,320
  20. Zक्लास सिटी: -40,580
  21. भारतीय रेलवे स्टेशन मास्टर्स को उनके वेतन के साथ मिलने वाले भत्ते का पूरा विवरण इस प्रकार है:
  22. रात्रि ड्यूटी भत्ता 2700 रुपये प्रति माह।
  23. ओवरटाइम भत्ता (OTA)।
  24. यात्रा भत्ते और अन्य।


स्टेशन मास्टर के आवश्यक गुण(Qualities)

  1. अत्यधिक धैर्यवान होना ।
  2. शारीरिक रूप से स्वस्थ ।
  3. सटीक और तुरंत निर्णय लेने की क्षमता होना ।
  4. अच्छा संचार कौशल और कंप्यूटर ज्ञान होना ।
  5. अधीनस्थों को संगठित करने के लिए
  6. संगठनात्मक कौशल होना चाहिए।
  7. अनुशासन, समयबद्धता और वचनबद्धता
  8. क्वालिटी का होना आवश्यक है|

अगर आप आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा को वास्तव मे क्लियर करना चाहते हैं ,लाखों उम्मीदवार आने वाले आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा के लिए उपस्थित होंगे तो अंततः RRB प्रतियोगिता के स्तर को  और बढ़ाएगा। अगर प्रतियोगिता स्तर बढ़ गई तो उससे निपटने के लिए आपकी रणनीति क्या है?  क्या आपने कोई योजना बनाई है?

Comment here