RTIS क्या होता है और क्यों लगाया जाता है?

 
RTIS क्या है और क्यों लगाया गया है?
 
RTIS :  (Real Time Information System)

भारतीय रेल द्वारा गाड़ियों की तत्काल (करेंट) लोकेशन का पता लगाने एवं समयपालन को मॉनिटर करने के लिये इस सिस्टम को अपनाया गया है जिसके तहत लोको में एक डिवाइस लगाई गई है जिसे #RTIS नाम दिया गया है।

इस RTIS डिवाइस में मुख्यतः दो भाग होते है :

■ Indoor Unit
    IRN (India Rail Navigator)
    लोको कैब में
■ Outdoor Unit
    RMT (Rail MSS Terminal)
    लोको की छत पर

■ Indoor Unit :

यह यूनिट लोको की कैब में लगाई गई है तथा इस यूनिट के तीन मुख्य भाग है :

◆ DPE
(Display Processing Engine)
यह कम्प्यूटर स्क्रीन की तरह ही एक छोटी टच स्क्रीन है जिसका उपयोग मॉनिटर की तरह किया जाता है। इसके दायीं तरफ एक लाल रंग की LED लगी है जिसे हमेशा प्रकाशित रहना अनिवार्य है।

◆ PMU
(Power Management Unit)
यह यूनिट DPE स्क्रीन के पीछे की तरफ लगा रहता है। इसमें बैटरी की 110 वोल्ट DC सप्लाई आती है जिसे यह 12 वोल्ट DC में बदलकर सिस्टम को देता है। इस यूनिट में पीछे की तरफ तीन हरे रंग की LED लगी है जिसे हमेशा प्रकाशित रहना अनिवार्य है।

◆ ICM
(Integrated Communication Module)
यह यूनिट भी DPE स्क्रीन के पीछे की तरफ PMU के साथ जुड़ी रहती है। इस यूनिट को PMU से 12 वोल्ट DC सप्लाई मिलती है तथा इसमें कुल चार डाटा केबल लगे रहते है जो आउटडोर यूनिट से जुड़े रहते है।

■ Outdoor Unit :

यह यूनिट लोको की छत पर (जिस कैब में इंडोर यूनिट लगा हो उसके ऊपर) लगा है जिसमें एक हरे रंग का LED हमेशा प्रकाशित रहती है।
यह एक ही यूनिट की होती है तथा इसके अंदर निम्न महत्वपूर्ण सिस्टम लगे हुए है :

◆ Mobile Satellite Service (MSS) Transceiver Module
◆ Secondary GPS Receiver
◆ Antina for all Module (like MSS, GPS, 4G-1, 4G-2, ZigBee)

MCB :

PMU को 110 वोल्ट DC बैटरी की सप्लाई एक MCB द्वारा दी जाती है जो WAP4 लोको में TB पैनल पर तथा WAP5 एवं WAP7 लोको में कैब के अनुसार SB बॉक्स में लगी हुई है।
जैसे, यदि  PMU लोको के कैब-1 में हो तो यह SB1 में लगी होगी।
इसी प्रकार यदि  PMU लोको के कैब-2 में हो तो यह SB2 में लगी होगी।


यह MCB हमेशा “ऑन” रहनी चाहिये। यदि DPE स्क्रीन के दायीं तरफ लगी लाल LED नही जलती हो तो इस MCB को चेक करनी आवश्यक है। यदि RTIS के सिस्टम में कोई खराबी आ जाती है तो इस MCB को “ऑफ” कर देनी चाहिये।

RTIS की कार्यप्रणाली :

यह यूनिट तीन नेटवर्क (MSS सेटेलाइट मीडिया, एयरटेल 4G मोबाइल नेटवर्क एवं वोडाफोन 4G मोबाइल नेटवर्क) द्वारा CRIS, चाणक्यपुरी, नई दिल्ली से जुड़ा हुआ है। इसे आगे भविष्य में चौथा नेटवर्क ZigBee  (वाई-फाई) से भी जोड़ने का प्लान है।

इन नेटवर्कों द्वारा भेजे गये सिगनल CRIS/नई दिल्ली में मॉनिटर होते है जिससे लोको/गाड़ी की करेंट लोकेशन का पता चलता रहता है तथा कंट्रोल ऑफिस में ट्रेन चार्ट ऑटो अपडेट्स होता रहता है तथा विभिन्न मोबाइल एप के माध्यम से गाड़ी की सही जानकारी आम जनता तक पहुँचती है।

लोको पायलट के लिये निर्देश :

गाड़ियों की प्रारंभिक स्टेशन/समाप्ति स्टेशन या जिस स्टेशन पर ट्रैक्शन बदली हो, लोको विफलता या अन्य कारणों से लोको बदलने की आवश्यकता हो, उस स्टेशन पर लोको पायलट द्वारा निम्न कार्य करना अनिवार्य है :

लोको पायलट द्वारा DPE स्क्रीन को छूने मात्र पर डिस्प्ले चालू हो जाता है अर्थात यह DPE स्लीप मोड से एक्टिव मोड में आ जाता है। डिस्प्ले पर दायीं ओर नीचे की तरफ User id, Password तथा Login के ऑप्शन बॉक्स दिखाई देंगे।

स्क्रीन के सबसे ऊपर दायीं तरफ दो “कीबोर्ड” क्रमशः कम्प्यूटर और मोबाइल के आइकॉन दिखाई देंगे जिसे क्लिक/टच करने पर मनचाहा “कीबोर्ड” स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा जिसके जरिये User id, Password भरकर Login करना होगा।
Login करने पर स्क्रीन पर निम्न मैसेज बॉक्स प्रदर्शित होगा :

● Start/End Journey
● Emergency message
● Monitor
● Logout

● Start/End Journey :

Start/End Journey के मैसेज बॉक्स की क्लिक/टच करने पर निम्न मैसेज बॉक्स प्रदर्शित होगा :

~ Start Journey
~ End Journey

~ Start Journey :

गाड़ी के स्टार्टिंग स्टेशन या गाड़ी के लोको बदलने पर लोको पायलट द्वारा Start Journey बॉक्स को क्लिक/टच करने पर Train No, Start date, Submit तथा एक कैलेंडर प्रदर्शित होगा जिसे लोको पायलट द्वारा सही-सही भरकर Submit करना अनिवार्य है।

Submit बॉक्स को क्लिक/टच करते ही उस गाड़ी का डाटा CRIS/नई दिल्ली को मिलना चालू हो जायेगा जिससे CRIS को उस गाड़ी की सभी जानकारी मिलनी प्रारम्भ हो जायेगी।

~ End Journey :

गाड़ी के गन्तव्य स्टेशन पर पहुँचने या गाड़ी के लोको बदलने पर लोको पायलट द्वारा End Journey बॉक्स को क्लिक/टच करते ही RTIS यूनिट के सिस्टम से Start Journey के जरिये भरे गये गाड़ी नम्बर स्वतः डिलीट हो जायेगा तथा CRIS कार्यालय को इसकी सूचना मिल जायेगी।

नोट :

Start Journey तथा End Journey ऑप्शन पर डाटा भरने के बाद Logout ऑप्शन पर अवश्य क्लिक/टच करें।

विशेष :

उपरोक्त फीचर के अलावा इस सिस्टम में लोको पायलट द्वारा कुछ आपातकालीन मैसेज देने का भी प्रावधान किया गया है जिसके द्वारा लोको पायलट सीधे CRIS/नई दिल्ली को अपना मैसेज भेज सकते है।
लोको पायलट द्वारा स्क्रीन पर User id, Password भरकर Login करने पर स्क्रीन के दायीं तरफ चार ऑप्शन बॉक्स प्रदर्शित होता है जिसमें ऊपर से दूसरे ऑप्शन बॉक्स में “Emergency Message” लिखा आता है। इस “Emergency Message” वाले ऑप्शन बॉक्स को क्लिक/टच करने पर निम्न मैसेज ऑप्शन बॉक्स प्रदर्शित होता है :

★ RUN OVER
★ OHE Related
★ De_railment
★ Engine Related
★ Coach/Wagon Related
★ Infringment
★ Track Related
★ Un_usual Occurence
★ Other

उपरोक्त ऑप्शन मैसेज में जिस संबंध में मैसेज भेजना हो तो उस ऑप्शन पर क्लिक/टच करते ही एक खाली बॉक्स तथा SEND का ऑप्शन बॉक्स प्रदर्शित होगा। खाली बॉक्स में “कीबोर्ड” के जरिये अधिकतम 40 शब्दों का मैसेज टाइप कर SEND बॉक्स पर क्लिक/टच करते ही मैसेज सीधे CRIS/नई दिल्ली को चला जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *